आचार्य श्री तुलसी को श्रद्धा स्मरण के साथ शासन-प्रशासन एवं संस्थाओं ने पर्यावरण सरंक्षण संगोष्ठी का आयोजन किया

नई दिल्ली, 2 जुलाई 2018ः अणुव्रत महासमिति द्वारा प्रदत् प्रकल्प के अन्तर्गत अणुव्रत प्रर्वतक आचार्य श्री तुलसी के 22वें महाप्रयाण दिवस के उपलक्ष में एवं वन महोत्सव-2018 के शुभारम्भ के अवसर पर आयोजित ’पर्यावरण संरक्षण संगोष्ठी ’अणुव्रत विश्व भारती के चीफ ट्रस्टी श्री तेज करण सुराना की अध्यक्षता में इन्द्रप्रस्थ इजीनियरिगं कालेज गाजियाबाद के रमन सभागार में हुई। हरित ऋषि विजयपाल बघेल ’पर्यावरणविद् ’ने मिशन सवा सौ करोड़ लंाच करते हुए कहा कि अभी जो दिल्ली में पर्यावरण का आपातकाल लगा है। प्रदूषण से स्कूलें बंद हो गए हैं। दिल्ली में सरकारी काॅलोनियों को तोड़कर बहुमंजिला बनाने के लिए 16,500 पेड़ कटने को है।
मुख्य अतिथि ’श्री सुनील शर्मा ’माननीय विधायक साहिबाबाद, ने इस मुहिम में आम नागरिकों से भी जुडने की अपील की। विशिष्ट अतिथी’ श्रीमती दीक्षा भंडारी (आईएफएस), डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिसर ने वन महोत्सव के शुभारम्भ की विधीवत घोषणा करते हुए वन विभाग को पूरे सहयोग की बात कही। ई.एम.के.सेठ (आईटीएस) महाप्रबंधक (बीएसएनएल), गवर्मेंट ऑफ इंडिया ने कहा कि आचार्य श्री तुलसी ने दिमागी प्रदूषण को भी हटाया।
अणुव्रत महासमिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अशोक संचेती ने कहा पूरे देश में फैले सैकडों समितियां पूरे जुलाई महीने में पर्यावरण के कार्यक्रम करेगी। अणुव्रत महासमिति की गौरवशाली शाखा दिल्ली ने आज पहले दिन ही ऐसे ठोस कार्यक्रम से पूरे देश के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है। डॉ. बीसी शर्मा डायरेक्टर – इन्द्रप्रस्थ इजीनियरिगं कालेज, ने सब का स्वागत किया।
अणुव्रत समिति दिल्ली की मन्त्री डॉ कुसुम लुनिया’ ने संचालन में कहा कि आज के आयोजन में डॉ पीसी जैन के निर्देशन में चार संस्थाएं- अणुव्रत समिति दिल्ली, इन्द्रप्रस्थ इजीनियरिगं कालेज साहिबाबाद, पर्यावरण सचेतक समिति भारत और वन विभाग गाजियाबाद साथ-साथ हैं। श्री तेज करण सुराणा के सारगर्भित अध्यक्षीय उद्बोघन से खचाखच भरा हाल तालियों की गडगडाहट से गूंज उठा।
इस संगोष्ठी का शुभारम्भ अणुव्रत ’महासमिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अशोक संचेती एवं समुपस्थित अतिथियों द्वारा दीप’ प्रज्जवल से हुआ। अणुव्रत गीत सरोज दुगड ने, अभिव्यक्ति संयोजक श्री रतनसुराना व उपाध्यक्ष सुरेंद्र नाहटा ने तथा आभार ज्ञापन उपाध्यक्ष प्रथम शांति लाल पटावरी ने किया। इस अवसर पर सभी अतिथियों का सम्मान पौधे, अणुव्रत पट्ट, साहित्य और प्रतीक चिन्ह द्वारा किया गया। कॉलेज के परिसर में दो कल्पवृक्षों से वृक्षारोपण कर वन महोत्सव का शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर उपस्थित अणुव्रत के सभी सदस्यों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रतिभाग प्रमाणपत्र भी वितरित किए गए।
डॉ. अखिलेश मिश्र -रजिस्टार, मोनिका बंसल, सर्व श्री अरूंण संचेती, .अशोक बेद, राकेश बैंगानी, विजयराज सुराना, डॉ. धनपत लुनिया, बाबूलाल दुगड़, डॉ हसा संचेती, धनपत नाहटा, प्रमोद दुगड, राजीव बंगानी, राजीव मनोत, महेंद्र चोरडिया, संजय जैन, एडवोकेट रबी शर्मा, राज गुनेचा, डॉ अरूणा भावेश आन्नद, धुर्वस बघेल जैसे इत्यादि सामाजिक कार्यकर्ता, पर्यावरण प्रेमी, विशिष्ट व्यक्तित्व एवं मिडिया गण उपस्थित थे।