बच्चों का विकास देश का विकास : मनीष सिसोदिया

नई दिल्ली 31 जनवरी 2018: बच्चों के विकास और खुशहाली के लिए काम करने वाले एनजीओ समाधान अभियान ने ‘सशक्त बचपन-सशक्त देश’ नाम से अभियान की शुरुआत 31 जनवरी 2018 को नई दिल्ली के पालिका पार्क से की। अभियान का लक्ष्य बच्चों को सशक्त बनाना है। इस अभियान का शुभारंभ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने किया। इस दौरान मिस यूनिवर्स अंकिता बोर्थाकुर भी मौजूद रहीं। इस प्रोग्राम का हेल्थ पार्टनर सरोज गु्रप ऑफ हॉस्पिटल्स है। इस अभियान का उद्देश्य बच्चों को सशक्त बनाने के साथ उनका विकास करना है। जिसमें शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा मुख्य है। लगभग एक हजार से ज्यादा बच्चे कार्यक्रम में शामिल हुए और उन्हें बाल शोषण से बचाने की शपथ ली गई।
यह देश के हर कोने में बच्चों को स्वस्थ रखने और उन्हें आगे बढ़ाने की एक पहल है। जिसमें बच्चे, अभिभावक और शिक्षक समेत लगभग 1000 से अधिक लोग शामिल हुए। यह अभियान बच्चों के साथ देश के भविष्य को और भी बेहतर बनाने की ओर एक कदम है। सरोज सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल, रोहिणी के डीएमएस और क्वालिटी हेड डॉ. धीरज मलिक ने बताया कि समाधान अभियान पिछले कई सालों से चल रहा है ताकि बच्चों को बाल शोषण से बचाया जा सके। सरोज ग्रूप ऑफ हॉस्पिटल्स को इस अभियान में हेल्थ पार्टनर बनने पर गर्व है। यह एक बेहद जरूरी कदम है बच्चों को उनकी समस्याओं जैसे बाल शोषण, सुरक्षा और स्वास्थ्य से अवेयर करने के लिए। इस क्रम में कई वर्कशॉप भी आयोजित की गई हैं जिनमें बच्चों को स्वास्थ्य के प्रति अवेयर करने के साथ और फ्री-ट्रीटमेंट भी दिया गया है।
समाधान अभियान के बारे में
समाधान अभियान पिछले कुछ सालों से बाल यौन शोषण को खत्म करने के लिए बच्चों, अभिभावक और शिक्षकों को जागरूक कर रहा है। इसका लक्ष्य भारत को बाल यौन शोषण को लेकर अवेयर करना है। इसके अलावा एम्स के साथ मिलकर वायु प्रदूषण पर वर्कशॉप की आयोजित की गई हैं और ऐसे बच्चे जो वायु प्रदूषण से प्रभावित है उनका ट्रीटमेंट भी किया जाता है।