इच्छुक एन.आर.आई. सम्पूर्ण प्रदेश में कहीं भी दे सकते हैं विकास के लिए सहयोग- श्रीमती स्वाती सिंह

लखनऊ, 22  दिसम्‍बर 2017: राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एन.आर.आई. श्रीमती स्वाती सिंह ने आज कहा कि अप्रवासी भारतीय उत्तर प्रदेश के किसी भी सेक्टर में निवेश कर सकते हैं। उन्होंने कहा प्रदेश में निवेश की अपार सम्भावनाएं हैं। खाद्य प्रसंस्करण और पर्यटन प्रदेश में निवेश के बड़े और बेहतरीन सेक्टर हैं।

श्रीमती स्वाती सिंह आज एनेक्सी स्थित सभाकक्ष में ‘इन्वेस्टर्स समिट-2018’ के मद्देनजर प्रदेश में अप्रवासी भारतीयों के निवेश को प्रोत्साहन देने हेतु बैठक कर रही थीं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश कृषि उत्पादों का धनी है, ऐसे में खाद्य प्रसंस्करण के प्रोजेक्ट पर बड़े स्तर पर निवेश हो सकता है। अप्रवासी भारतीय प्रदेश में पर्यटन के विकास में भी सहयोग कर सकते हैं। प्रदेश में अन्य राज्यों की तुलना में कहीं बेहतर दर्शनीय ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल हैं जहाँ अवस्थापना सुविधाओं में राज्य सरकार के सहयोग से विकास किया जा सकता है। उन्होंने कहा इन निवेशों से बेहतर आर्थिक सुदृढ़ता, राजस्व प्राप्ति और रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी।

बैठक में प्रदेश में जन्मे अप्रवासी उद्योगपति जाॅन मार्टिन थाॅमस और उनके सहयोगियों द्वारा उत्तर प्रदेश में दुग्ध प्रसंस्करण, फ्रेश चीज प्रोजेक्ट तथा अन्य खाद्य प्रसंस्करण प्रोजेक्ट की स्थापना के प्रस्ताव पर राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाती सिंह से चर्चा की गयी।

राज्यमंत्री ने खाद्य प्रसंस्करण यूनिट स्थापना पर अधिक जोर देकर किसानों की सहभागिता के साथ प्रस्ताव उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने कहा शेयर होल्डर पैटर्न पर खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाने की व्यवस्था बनायी जायेगी।

विदेशों में बसे भारतीयों के हितों तथा प्रदेश के विकास में उनके सहयोग को स्थान दिलाने के लिए कार्यरत डा0 रंजना सरीन ने प्रदेश के शहरों को विदेशी शहरों से सिस्टर-टाउन पैटर्न पर समझौता बद्ध कर विकास में बड़े स्तर पर विदेशी सहयोग प्राप्त किए जा सकने की व्यवस्था से मंत्री जी को अवगत कराया। मंत्री जी ने इस पर वृहद विचार-विमर्श कर अग्रिम प्रस्ताव प्रस्तुत करने को कहा।

वरिष्ठ अधिकारी श्री संजीव सिंह ने अप्रवासी उद्योगपति जाॅन मार्क थाॅमस से उद्योग से इतर अन्य सेक्टर्स की सम्भावनाओं में भी निवेश हेतु विचार करने को कहा। श्री थाॅमस ने प्रदेश में सामान्य किराये पर इलेक्ट्रिकल बसें चलाने हेतु रूचि प्रदर्शित की जिस पर राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती स्वाती सिंह ने प्रदूषण नियंत्रण के दृष्टिगत प्रस्ताव पर हर्ष प्रकट किया।

-प्रेषक: अफजल शाह मदूदी, एडीटर