नॉर्थ कोरिया ने दिया ट्रंप को चुनौती

नई दिल्लीः नॉर्थ कोरिया ने रविवार 12 फरवरी की सुबह आज एक बिलास्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। डॉनल्ड ट्रंप के अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के बाद नॉर्थ कोरिया ने इस तरह का पहला परीक्षण किया है। ऐसा माना जा रहा है कि नॉर्थ कोरिया ने यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को चुनौती देने के लिए उठाया है।
north-korea-shoots-500km-missile-fileगौरतलब है कि पिछले हफ्ते ही अमेरिकी रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस दक्षिण कोरिया के दौरे पर थे और उन्होंने कहा था कि यदि नॉर्थ कोरिया ने परमाणु हमले का दुस्साहस किया तो उसे तगड़ा जवाब मिलेगा। इसके अलावा ट्रंप ने भी जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे को आश्वस्त किया था कि वह अपने एशियाई सहयोगियों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं।
नॉर्थ कोरिया लगातार मिसाइल और परमाणु परीक्षण कर रहा है। इसके साथ ही वह आक्रामक बयान भी देता रहता है। नॉर्थ कोरिया के इस रवैये से क्षेत्रीय तनाव बढ़ सकता है। नॉर्थ कोरियाई नेता किम जोंग उन ने पिछले महीने कहा था कि उनका देश लंबी दूरी के मिसाइल परीक्षण करने के करीब है जो मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में भी सक्षम होगी।
नॉर्थ कोरिया ने पूरी दुनिया की ध्यान अपनी परमाणु और मिसाइल क्षमता की तरफ आकर्षित करने के लिए ऐसा कर रहा है।
नॉर्थ कोरिया ने पिछले साल अपना पांचवां परमाणु परीक्षण किया था। तब उसने यह भी कहा कि था वह अमरीका पर परमाणु हमला करने में पूरी तरह सक्षम है।