मुख्यमंत्री कौन होगा यह चुनाव के बाद की बातें: गहलोत

जयपुरए 12 अक्टूबर। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा है कि हमारा पहला मकसद है कि हम सब चुनाव जीतकर फिर से सत्ता में कैसे आएं। कौन मुख्यमंत्री बनेगाए यह चुनाव के बाद की बातें हैं। मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि हम इसी ध्येय को लेकर और उसी रूप में काम कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि टिकटार्थियों के चयन की प्रक्रिया बड़ी स्मूथली चल रही है। सब खुलकर बात कर रहे हैंए कोई पूर्वाग्रह नहीं हैएकोई कटुता नहीं हैए कोई गुटबाजी नहीं है। सब की भावना एक है कि हम कैसे चुनाव में कामयाब हों। यह पार्टी के लिए शुभ संकेत है। पहली सूची के बारे में उन्होंने कहा कि यह तारीख तो पार्टी उपाध्यक्ष पार्टी अध्यक्ष से बात कर तय करेंगे।

श्री गहलोत ने गुरूवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए भाजपा तथा उनकी प्रदेशाध्यक्ष श्रीमती वसुंधरा राजे पर जमकर प्रहार किए। श्री गहलोत ने कहा कि उनका ब्लैक पेपर तो अपने आप में व्हाइट हो गया। वे खुद एक्सपोज हो गईं। उनकी नैतिक हार भी हो गई। उन्होंने कहा कि जिनके उपर भ्रष्टाचार के इतने आरोप लगे होंए भ्रष्टाचार की जननी के रूप में जो सरकार जानी जाती हो उस वक्तए वो किस मुंह से प्रेस वालों को प्रेस कांफ्रेंस में उनके प्रश्न का जवाब देतीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कारपेट चोरी होने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री भड़क गईं। यह मामला तो पहले से पुलिस की तफ्तीश में है। आठ कारपेट चोरी हुए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री के ओण्एसण्डीण् ले गए हैं। ट्रक में भरवाए हैं। वह डेढ सौ वर्ष पुराने थे। खासा कोठी के कीमती कारपेट थे। करोड़ों की संपत्ति थी। हमने पूरी जांच करवा कर पुलिस रिपोर्ट दर्ज करवाई। गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट से स्टे ले लिया उन्होंने। इन सब बातों का वसुंधरा जी के पास कोई जवाब नहीं था। इसीलिए वे सवाल पर भड़क गई। सरकार में होने के बावजूद हम तफ्तीश में कोई हस्तक्षेप नहीं कर रहे हैं।